कला और रचनात्मकता / Arts and Creativity

कलाओं में भाग लेकर अपंग लोग हमारे कार्यस्‍थलों एवं समुदायों को बहुत योगदान देते हैं, अपंगता की बाबत पुरानी घिसी-पिटी बातों को दफन करने में सहायता करते हैं और समस्‍त लोगों का वास्‍तव में प्रतिनिधित्‍व करने वाली वैश्विक संस्‍कृति का निर्माण करते हैं।

कलाएं अनेक तरीकों से जीवन की गुणवत्‍ता में वृद्धि करती हैं। वे बच्‍चे की शिक्षा की शुरुआत से वयस्‍क होने और कैरियर के समय तक व्‍यक्तिगत एवं शैक्षणिक सफलता दोनों को ही बेहतर बनाती हैं। प्राथमिक स्‍कूल के वे विद्यार्थी जो कि संगीत कार्यक्रमों में भाग लेते हैं, पठन-पाठन, गणित, भाषा और समग्र उपलब्धि परीक्षणों में बेहतर प्रदर्शन करते हैं। हाई स्‍कूल में कला की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी परीक्षण में बेहतर प्रदर्शन करते हैं। स्‍टूडियो आर्ट पाठ्यक्रमों में पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी अपनी लिखावट और शब्‍दभंडार कौशलों में सुधार लाते हैं। ये निष्‍कर्ष अपंग लोगों समेत समस्‍त लोगों के जीवन को सकारात्‍मक ढंग से गढ़ने में कला के मूल्‍य को रेखांकित करते हैं। चूंकि कला अनंत एवं बिना शर्त वाला क्षेत्र है इसलिए अपंग लोग शारीरिक, सामाजिक या रवैयागत अवरोधों के बिना स्‍वयं को अभिव्‍यक्‍त करने के लिए स्‍वतंत्र हैं।

कला सार्विक भाषा है जिसमें कि समस्‍त लोगों को एकजुट करने की क्षमता होती है। आर्ट्स एंड क्रिएटिविटी लिंक्‍स (इस पन्‍ने के ऊपर दाएं संस्‍तुत वेबसाइटों पर क्लिक करें) उन संगठनों को जोड़ते हैं जो कि विजुअल आर्ट्स, संगीत, रंगमंच और नृत्‍य में भागीदारी को प्रोत्‍साहित करते हैं।

स्रोत : वीएसए

Reeve Foundation's Paralysis Resource Guide (रीव फाउंडेशन की पक्षाघात संसाधन मार्गदर्शिका) डाउनलोड करें
हम सहायता के लिए उपलब्ध हैं

हमारे सूचना विशेषज्ञों की टीम प्रश्नों के उत्तर देने और 170 से भी अधिक भाषाओं में जानकारी देने में सक्षम है.

फोन करें: 800-539-7309

(अंतर्राष्ट्रीय कॉलर इस नंबर का प्रयोग करें: 973-467-8270)

सोमवार से शुक्रवार – सुबह 9:00 बजे से शाम 5:00 बजे ET तक या अपने प्रश्न भेजें.